बॉलीवुड की अभिनेत्री तनुश्री दत्ता इस वजह से सुर्खियां बटोरती रही हैं, क्योंकि उन्होंने मीटू कैंपेन के तहत आलोकनाथ पर संगीन आरोप लगाए थे, जिसके बाद अनेक महिलाओं ने भी उन पर आरोपों की झड़ी लगा दी थी। ऐसे में आलोकनाथ से दूरी बनाना ही अधिकांश लोगों ने सही समझा था, लेकिन अब जबकि अजय देवगन फिल्म दे दे प्यार दे में आलोकनाथ के साथ काम करते नजर आए हैं तो एक बार फिर तनुश्री दत्ता मुखर हुई हैं। तनुश्री ने आलोकनाथ के साथ काम करने पर अजय देवगन को खूब खरी-खोटी सुनाई है। यही नहीं उन्होंने फिल्म मेकर्स को भी आड़े हाथों लिया और यहो तक कह दिया कि सिने जगत झूठों, शो ऑफ करने वालों और पाखंडियों से भरा हुआ है। इस प्रकार तनुश्री ने आलोकनाथ के साथ बनी एक फिल्म और उसकी टीम के कारण पूरे सिनेमा जगत को ही पाखंडियों और झूठों का अड्डा बतला दिया। गौरतलब है कि इस फिल्म में आलोकनाथ ने अभिनेता अजय देवगन के पिता का रोल निभाया है। इस करण पहले ही अजय देवगन को सोशल मीडिया पर भी ट्रोल किया गया था। अब तनुश्री ने अजय और फिल्म मेकर्स पर निशाना साधते हुए कहा है कि आलोकनाथ पर गंभीर आरोप लगे हैं और इस तरह के मामले सामने आने के बाद फिल्म में आलोकनाथ के सीन्स को री-शूट भी किया जा सकता था, लेकिन नहीं, उन्होंने तो बलात्कारी को ही फिल्म का हिस्सा बनाए रखा। चूंकि फिल्म के ट्रेलर से पहले तक किसी को यह नहीं मालूम था कि इसमें आलोकनाथ भी हैं अत: अजय देवगन और फिल्म मेकर्स चाहते तो वे खामोशी के साथ आलोकनाथ को रिप्लेस कर सकते थे। इस पर प्रतिक्रिया देने वाले तो यही कह रहे हैं कि संभव है कि तनुश्री ने जो कहा वह गुस्से में कहा, इसलिए उनके मुंह से फिल्मी दुनिया के लिए भी अपशब्द निकल गए। वहीं अनेक लोगों ने तनुश्री के फेवर में भी बातें कहनी शुरु कर दी हैं और कहा जा रहा है कि फिल्म का विरोध होगा, यदि आलोकनाथ वाकई इस फिल्म में काम करते नजर आएंगे। यहां आपको बतला दें कि राइटर विनता नंदा ने आलोकनाथ पर बलात्कार का आरोप लगाया था, जिसके बाद अभिनेता पर मामला भी दर्ज किया गया और अब आलोकनाथ अग्रिम जमानत पर हैं। इस पूरे मामले में अजय देवगन का कहना है कि आलोकनाथ के साथ फिल्म में शूटिंग मीटू कैंपेन के पहले ही हो चुकी थी, इसलिए इसे उस मामले से जोड़कर न देखा जाए। वैसे फिल्म 17 मई को रिलीज होने जा रही है, जिसमें अजय देवगन के साथ ही तब्बू और रकुल प्रीत भी अहम भूमिका निभाते नजर आएंगे।