अमृतसर. अमृतसर में रविवार को दोपहर बाद एक युवती द्वारा जहर खाकर सुसाइड कर लिए जाने का मामला सामने आया है। यह युवती बैंक में अकाउंटेंट के पद पर कार्यरत थी। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच-पड़ताल शुरू की तो पाया कि वह रिश्ता टूट जाने से परेशान थी। उसका मंगेतर बिना बताए विदेश चला गया, वहीं परिवार वालों ने रिश्ता तोड़ने की बात कह डाली।

थाना राजासांसी के गांव रानेवाली की महिला सिमरजीत कौर पत्नी सुरजन सिंह ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उनके 3 बच्चों में सबसे बड़ी बेटी मनप्रीत अमृतसर में बैंक में जॉब करती थी। 14 जनवरी 2019 को मनप्रीत की हरमन सिंह पुत्र मनमोहन सिंह निवासी गांव ड्याल भट्टी के साथ अजनाला के गुरुद्वारे में मंगनी हुई थी, तब बताया गया था कि लड़का बीडीओ रमदास में नौकरी करता है। बाद में जब वो शादी के लिए बात करते तो हर बार टाल देते थे। कुछ दिनों के बाद फोन तक भी अटेंड करना बंद कर दिया। पता चला कि हरमन विदेश चला गया। उसके घरवालों से बात की गई तो कोई मेल नहीं होने की बात कह उन्होंने रिश्ते से मना कर दिया। इसी बात को लेकर मनप्रीत बीते दिनों से काफी परेशान रहती थी।

सिमरजीत कौर की मानें तो परिजन बार-बार समझाते थे, लेकिन मनप्रीत समझ नहीं रही थी। शनिवार दोपहर करीब 3 बजे मनप्रीत अंदर सोई हुई थी। बाहर बरामदे में सो रही उसकी मां सिमरनजीत कौर जब अचानक अंदर गई तो देखा मनप्रीत बेहोशी की हालत में थी और उसने बताया कि उसने जहर खा लिया। राजासांसी के निजी अस्पताल में लेकर गए तो वहां कुछ समय बाद उसकी मौत हो गई।

इस संबंध में एएसआई प्रगट सिंह ने बताया कि लड़की की माता के बयान के आधार पर लड़के हरमन सिंह, उसके पिता मनमोहन सिंह, माता सुखविंदर कौर, भाई दमनप्रीत सिंह पर मामला दर्ज कर आगामी करवाई शुरू कर दी है।