राजकोट | वीरपुर में शराब के नशे में गिरफ्तार शख्स की जमानत के लिए पुलिस कांस्टेबल के रु. 25000 की रिश्वत का मामला सामने आया है| एसीबी ने पुलिस कांस्टेबल को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही शुरू की है| गुजरात में पूर्ण शराबबंदी है और उसके कड़ाई से अमल के लिए कानून को कड़ा बनाया गया है| इसके बावजूद आए दिन बड़े पैमाने पर शराब पकड़ी जाती है| शराब के नशे में पकड़े लोग भी रिश्वत देकर छूट जाते हैं| ऐसी ही घटना राजकोट के वीरपुर में सामने आई है| वीरपुर पुलिस थाने के कांस्टेबल अश्विनसिंह नीरूभा और राजेन्द्रसिंह वाला ने शराब के नशे में धुत्त एक दुकानदार को गिरफ्तार किया था| दुकानदार को जमानत पर मुक्त करने के लिए एक लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी| बाद में दुकान 25000 रुपए देने को तैयार हो गया| हांलाकि दुकानदार रिश्वत की रकम पुलिस कांस्टेबलों को देने के बजाए एसीबी के टॉल फ्री नंबर 1064 पर शिकायत कर दी| जिसके आधार पर राजकोट एसीबी ने दोनों कांस्टेबलों को रु. 25000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही शुरू की है|