पंजाब सरकार ने बिजली दरों में इजाफा कर दिया है। ऐसे में आने वाला बिजली का बिल आपके बजट को बिगाड़ सकता है। लिहाजा पहले से ही तैयार हो जाइये जेब ढीली करने के लिए। जानकारी के अनुसार औसतन एक हजार यूनिट की खपत पर घरेलू उपभोक्ताओं की जेब पर 176 रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।गर्मियों के सीजन में यूं भी भारी भरकम बिल आता है, लिहाजा इस बार बिल कुछ ज्यादा आने वाला है। लोकसभा चुनाव के बाद पंजाब सरकार ने बिजली दरों में इजाफा किया था। इसका नोटिफिकेशन जारी होने के बाद घरेलू उपभोक्ताओं के हाथ में जो बिल आएगा, वो बढ़ी हुई दरों के साथ आएगा।

बढ़े बिजली के रेट के खेल को यूं समझें, आठ पैसे बढ़ाई यूनिट की दर
200 यूनिट तक पहले 4.91 रुपए का भुगतान करना होता था जो अब 4.99 रुपए करना होगा। 200 यूनिट के बाद पहली 400 यूनिट के लिए 6.51 रुपए की दर से भुगतान होता था जो अब 6.59 रुपए की दर से करना होगा। अगली 400 यूनिट के लिए पहले दर 7.12 रुपए थी जिसे अब 7.20 रुपए कर दिया गया है।

इसके बाद प्रति यूनिट दर 7.33 रुपए जो अब 7.41 रुपए कर दी है। इस लिहाज से 5 किलोवाट लोड वाले उपभोक्ता, जिनकी खपत 1000 यूनिट थी उन्हें पहले सभी टैक्स मिला कर 9220.80 रुपए का भुगतान करना होता था, लेकिन अब उन्हें 9396.80 रुपए का भुगतान करना होगा। पंजाब के घरेलू उपभोक्ता पहले से ही सबसे ज्यादा टैक्स देते रहे हैं।

पहले से 20 प्रतिशत तक भर रहे टैक्स

शहरी इलाकों के उपभोक्ताओं को 20 प्रतिशत व ग्रामीण उपभोक्ताओं को 18 प्रतिशत टैक्स का अतिरिक्त भुगतान करना पड़ता है। जो अन्य पड़ोसी राज्यों की तुलना में काफी ज्यादा है। पंजाब में घरेलू उपभोक्ता इंफ्रास्ट्रेक्चर के नाम पर 5 प्रतिशत, इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी के नाम पर 13 प्रतिशत व म्यूंसिपल टैक्स के तौर पर 2 प्रतिशत टैक्स का बिल पर भुगतान करते हैं।

        पुराना        नया
लोड        5 किलोवाट            5 किलोवाट
यूनिट        1000        1000
200 यूनिट तक        982        998
पहली 400 यूनिट    2604        2636
अगली 400 यूनिट    2848        2880
फिक्सड् चार्ज        280        360
इंफ्रास्ट्रक्चर डवलेपमेंट टैक्स    371.17        375.70
इलेक्ट्रीसिटी ड्यूटी    966.42        976.82
म्यूनसीप्ल टैक्स        148.68        150.28
रैन्टल        20        20
कुल बिल        9220.80        9396.80