जीवन में आपने बहुत से सांप देखे होंगे. लेकिन क्या आपने स्नेक गर्ल भी देखी है? अपने देश के ही मध्य प्रदेश राज्य में एक ऐसी लड़की है, जिसे लोग 'स्नेक गर्ल' के नाम से पुकारते हैं. यही नहीं, कई बार बच्चे भी शालिनी के चेहरे को देखकर भयभीत हो जाते हैं.

लोग क्यों कहते हैं 'स्नेक गर्ल'
शालिनी यादव नाम की ये 16 साल की लड़की मध्य प्रदेश के छत्तरपुर जिले में रहती है. शालिनी एरिथ्रोडर्मा नाम की बीमारी से जूझ रही है. ये त्वचा संबंधी रोग है. इस बीमारी में त्वचा सख्त हो जाती है जिससे शरीर सांप की तरह त्वचा छोड़ने लगता है. यही कारण है कि इस लड़की को लोग स्नेक गर्ल के नाम से जानते हैं. शालिनी के पिता राजबहादुर दिहाड़ी मजदूर हैं और मां देवकुंवर सामुदायिक केंद्र में काम करती हैं.

हर एक घंटे में नहाना जरूरी

अपनी त्वचा को सख्त होने से बचाने के लिए इस लड़की को हर एक घंटे में नहाना पड़ता है. डॉक्टरों के मुताबिक इस बीमारी को रेड मैन सिंड्रोम भी कहा जाता है. डॉक्टरों की रिपोर्ट के मुताबिक इस लड़की का शरीर 45 दिन के बाद त्वचा छोड़ देता है. देश में इसका इलाज संभव नहीं है.

स्पेन के हॉस्पिटल में होगा इलाज
इस लड़की का परिवार काफी गरीब है और इसका इलाज कराने में भी अक्षम है. कुछ लोगों ने इस लड़की के दर्द के बारे में सुना तो दुनिया के कुछ बड़े अस्पताओं को सूचित किया. इसी कोशिश में स्पेन का विक्टोरिया यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल इस लड़की का इलाज करने को तैयार हो गई है.

शालिनी के साथ-साथ उसका पूरा परिवार इस बात से काफी उत्साहित है. शालिनी अपने पिता के साथ स्पेन के लिए रवाना हो चुकी है.