नवरात्र शुरू होने ही वाले हैं और ऐसे में घर के मंदिर की साफ-सफाई करना बहुत जरूरी है। नवरात्र के उत्सव में नौ दिन तक देवी मां की पूजा की जाती है और लोग घर में भी बहुत शुद्धी बरतते हैं। कुछ घरों में अलग पूजा घर होता है और कई घरों में रसोई या कमरे में ही छोटा-सा मंदिर होता है। वैसे तो लोग कुछ दिनों के बाद ही मंदिर की सफाई कर लेते हैं लेकिन फैस्टीवल सीसन में यहां की खास सफाई और सजावट करनी चाहिए। आइए जानिए मंदिर की सफाई के दौरान कुछ जरूरी बातें

1. पूजा के कमरे को अच्छी तरह धोना चाहिए। अगर घर में छोटा मंदिर है तो उसे साबुन के पानी से अच्छी तरह धोएं।
2. पूजा घर में अगर धातु की मूर्तियां है तो उन पर नमक और टूथपेस्ट लगा कर अच्छी तरह साफ करें। इससे मूर्तियां चमक जाएंगी और एक दम नई लगने लगेंगी।
3. जोत और पूजा की थाली अक्सर पीतल की होती है। ऐसे में उसे साफ करने के लिए उन पर नींबू और नमक लगाकर रगड़ें जिससे पूजा के बर्तन चमक उठेंगे।
4. मंदिर के कपड़े और पर्दे धोकर अच्छी तरह सूखा लें। हो सके तो नए कपड़े खरीद लें।
5. कुछ पूजा घरों में पीतल की घंटी भी होती है। उसे साफ करने के लिए घंटी को इमली के गूदे में कुछ देर भिगो कर रख दें और फिर रगड़ कर साफ करें।
6. सारा मंदिर साफ करने के बाद ताजे फूलों से मंदिर की सजावट करें। मंदिर के द्वार पर तौरन या फूलों की माला लगा सकते हैं। मूर्तियों पर ताजे फूलों की माला चढ़ाएं और रंग-बिरंगी लाइटें लगाकर मंदिर को जगमग करें।