दक्षिण अफ्रीका के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज केशव महाराज ने शनिवार को श्रीलंका के खिलाफ अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। उन्होंने श्रीलंकाई बल्लेबाजों को सिंहली स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन 338 रनों पर रोक दिया। महाराज ने इस मैच की पहली पारी में 129 रन देकर नौ विकेट लिए। वह ऐसा करने वाले कुल 19वें और हग टेफील्ड के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका के दूसरे गेंदबाज बन गए हैं। टेफील्ड ने 1957 में इंग्लैंड के खिलाफ जोहान्सबर्ग में 113 रन देकर नौ विकेट लिए थे। 


पारी में 9 विकेट लेने वाले महाराज दूसरे दक्षिण अफ्रीकी

अभी तक सिर्फ जिम लेकर (10/53) और पूर्व भारतीय कप्तान अनिल कुंबले (10/74) ने टेस्ट मैच की एक पारी में 10 विकेट लिए हैं। महाराज ने पहले दिन का अंत आठ विकेट के साथ किया था। दूसरे दिन शनिवार को उन्होंने रंगना हेराथ (35) को आउट कर अपने नौ विकेट पूरोे किए। एक विकेट कागिसो रबादा के हिस्से आया। महाराज के प्रदर्शन को हालांकि उनकी टीम के बल्लेबाजों का साथ नहीं मिला और दक्षिण अफ्रीका पहली पारी में 124 रनों पर ढेर हो गई। लेकिन दक्षिण अफ्रीकी टीम महाराज के इस शानदार प्रदर्शन का फायदा नहीं उठा सकी।


श्रीलं​का को पहली पारी के आधार पर 365 रनों की बढ़त

श्रीलंका के 338 रनों के जवाब में दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम अपनी पहली पारी में मात्र 124 रनों पर सिमट गई। दक्षिण अफ्रीका के लिए कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने सबसे ज्यादा 48 रन बनाए। उनके बाद क्विंटन डी कॉक 32 रन बनाकर दूसरे सबसे सफल बल्लेबाज रहे। हाशिम अमला 19 रन बनाकर पवेलियन लौटे। श्रीलंका के लिए अकिला धनंजया सबसे सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने 13 ओवर्स की गेंदबाजी में 2 मेडन रखते हुए 52 रन खर्च कर पांच विकेट चटकाए। उनके अलावा दिलरुवान परेरा 12.5 ओवर्स की गेंदबाजी में 1 मेडन रखते हुए 40 रन देकर चार विकेट चटकाए। रंगाना हेराथ को एक सफलता मिली। श्रीलंका ने मैच की दूसरी पारी में तीन विकेट पर 151 रन बनाकर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। श्रीलंका की कुल बढ़त 365 रन की हो गयी है और उसके सात विकेट शेष है। दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दूसरे दिन स्टंप्स के समय दिमुथ करुणारत्ने 59 और एंजेलो मैथ्यूज 12 रन पर नाबाद थे।