अफगान स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के नजदीक आत्मघाती हमले में मृतक संख्या बढ़कर 23 हो गयी है। निर्वासन से अफगान उप राष्ट्रपति अब्दुल राशिद दोस्तम की वतन वापसी पर स्वागत करने के बाद लोग जैसे ही हवाई अड्डे से रविवार को वापस लौटने लगे एक शक्तिशाली बम विस्फोट हुआ। शुरूआती रिपोर्ट में 14 लोगों के मरने और 60 लोगों के घायल होने की रिपोर्ट थी।

आत्मघाती हमले में एएफपी का चालक मोहम्मद अख्तर (31) की भी मौत हो गयी। वह रात्रि पाली के लिए दफ्तर जा रहे थे। एसआईटीई सतर्कता निगरानी समूह के अनुसार अपनी आधिकारिक अमाक न्यूज एजेंसी के जरिये इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

अफगानिस्तान में मानवाधिकार उल्लंघन से तार जुड़े होने के चलते दोस्तम एक वर्ष से अधिक वक्त तक निर्वासित रहे और उनके वापस लौटने पर लोग उनका स्वागत करने के लिए हवाई अड्डे पर एकत्र हुए थे। दोस्तम एक बख्तरबंद गाड़ी में सफर कर रहे थे। वह इस हमले में बाल-बाल बचे।